Thursday, March 11, 2010

प्रवीण शाह का ब्‍लाग देखना खतरनाक - पाबला जी कहते हैं ब्राऊज़र सुरक्षा के लिए खतरा

नास्तिक न. 3 प्रवीण शाह जी को आज एक कथित वाइरस देने के लिये असली वाइरस से मुझे आधा घण्‍टा जूझना पडा, हुआ यूं कि प्रवीण साहब आज अपनी पोस्‍ट में ईश्‍वर को नकारते हुये दुष्‍ट तक साबित कर रहे हैं , मैं उनको प्रतिक्रिया देना चाहता था परन्‍तु मेरा ओरिजनल एन्‍टी वाइरस साफ्टवेयर McAfee उनका ब्‍लाग बार-बार बन्‍द करके चेतावनी दे रहा था, फिर मैंने अलग अलग ब्राउजर आजमाये, कई प्रकार से कमेंट करने की कोशिश की, आधा घण्‍टे में प्रवीण जो को कमेंटस देने में सफलता मिली, मुझे जो मेसेज मिले उनके स्‍क्रीनशाट लेकर उनको अपने एकमात्र शुभ चिंत्तक श्री बी एस पाबला जी को भेजा, उन्‍हें लिखा
बी एस पाबला जी
आज की हाट हो रही एक पोस्‍ट जब मैं देखता हूं तो वाइरस जैसा दिखता है, मैंने अपने एंटी वाइरस McAfee से लडझगड कर आधा घण्‍टे में इनको कमेंट कर पाया, अलग-अलग ब्राउज़र में अलग बात,
आप स्क्रीनशाटस से समझ कर बतादिजये क्‍या मामला है,
http://praveenshah.blogspot.com/2010/03/blog-post_12.html
आपसे सदैव आशा होती है कि निराश नहीं करेंगे
प्रतीक्षा में

उनका जवाब यह आया
-----प्रवीण का ईमेल नहीं है, उन्हे बता नहीं पाया था
मामला गंभीर तो है, ब्राऊज़र सुरक्षा के लिए खतरा है
यह सब आपकी (मतलब, यूज़र की) निजी जानकारियाँ/ डाटा चुराने, या इंटरनेट आदतों का जायजा लेने के काम आ सकता है।
नहीं होना होगा तो कुछ नहीं होगा, होना होगा तो सब कुछ हो जाएगा-----


ब्‍लागर भाईयों आपसे निवेदन है कि प्रवीण शाह जी को खबरदार करें
और स्‍वयं खबरदार हो जायें
वाइरस पे विश्‍वास न हो ता देखें नास्तिक की निम्‍न पोस्ट जो अभी ब्‍लागवाणी पर हाटलिस्‍ट में नम्‍बर 2 पे है और भुगतें

Thursday, March 4, 2010

चिपलूनकर जी को बधाई (चिटठाजगत टाप 40 में आने पर)

सोचा था ब्‍लागवाणी से पूछूंगा कि मेरे ब्‍लाग islaminhindi.blogspot.com की कमेंटस संख्‍या वह कबसे दिखाने लगेगा (दिखाने लगा) , उसी दौरान चिटठाजगत पर नजर पडी, होता यह है फिर हुआ यह कि चिपलूनकर साहब जब भी टाप 40 से बाहर होते हैं उन्हें chitthajagat.in सम्‍मान देते हुये ऊपर ले आता है, ऐसा कई बार होते देखा सोचा अबकि बार बधाई दे दूं, पर सोचता हूँ बधाई चिटठाजगत का दूं या चिपलूनकर साहब को या दोनों को आप बताईये