Wednesday, May 5, 2010

हिन्‍दुस्‍तानी भाई का ब्‍लागिंग में वर्ल्‍ड रिकार्ड? 5 Posts में Page Rank 2


पिछली पोस्‍ट पर बहुत से ब्‍लागर भाई इस बात के गवाह हैं कि मेरा ब्‍लाग antimawtar.blogspot.com 5 पोस्‍ट में Rank-1 रह चुका है

उस ब्‍लाग पर निरन्‍तर न लिखने के कारण रैंकिंग घटकर 1 हो गयी थी

अब फिर बगेर नयी पोस्‍ट के ही वह Page Rnak-2 हो गया है,

सोचा कहीं यह फिर Rank-1 हो जाये तो इसका चित्र सुरक्षित कर लूं, साथ ही ब्‍लागर भाईयों बहनों से मालूम करना चाहता था कि

है कोई ऐसा रिकार्ड धारी ब्‍लाग जो 5 पोस्‍ट में Rank-2 हो

और क्‍या इसे वर्ल्‍ड रिकार्ड बताना उचित है?

वैसे आप या भी जान लें चिटठाजगत और ब्‍लॉगवाणी Page Rank-4 है और हमारी उर्दू वेब www.urdustan.com की रैंकिंग आजकल Page Rank-5 है जिससे में छुट्टी लेके अ‍पने हिन्‍दी भाषियों में आया, लेकिन लगता है अब कभी उर्दू की तरफ न जा पाऊँ इधर बहुत मजा आ रहा है,
Rank - 2 Blog: अन्तिम अवतार


59 different countries have visited this site.

Total unique visitors: 3,126
.......................................................................................................................
आशिष खंडेलवाल जी पेज रैंक बारे में लिखते हैं ''सामान्य तौर पर 4 या उससे ऊपर की पेजरैंक अच्छी मानी जाती है।''
''ब्लॉग रैंकिंग का कौनसा सिस्टम क्या कहता है..''



2012

Tuesday, May 4, 2010

कैराना में शिक्षा एवं सामाजिक जागरूकता लाने के लिये आयी ब्लागजगत की मशहूर हस्तियां

अकबर खान राणा जी, हमेशा कुछ अच्छा करने की सोचते रहते हैं, करते रहते हैं, ऐसे ही एक सिलसिले की शुरूआत के लिये आप अपने दोस्तों विपिन चौधरी जी, प्रवीण शुक्ला जी और विनोद कुमार पांडेय जी के साथ कैराना आये, खान साहब मेरे कैराना ब्‍लाग और वेबसाइट के कारण पहले से परिचित थे, बकोल उनके वह मेरे कारण ही इधर आये हैं (धन्‍यवाद), सभी से बहुत सी बातें हुई, घूमना फिरना हुआ और आगे के लिये कुछ प्रोग्राम बने उसी दौरान कुछ अपने मोबाईल से फोटू ले लिये जो प्रस्तुत है, ऐसे महान विचारों के महनती दोस्तों का कैराना आना हमारे लिये बहुत बडी बात है, इसी जज्बे व खुशी में एक दो चित्र दे रहा हूँ , इससे अधिक तो शायद 'सीधी चोट' के प्रवीण शुक्ला जी लिखेंगे!


बायें सेः सलीम अखतर, विनोद जी, अकबर खान, कैरानवी, प्रवीण शुक्‍ला, विपिन चौधरी साहिबा, सुनिल कुमार साहब साथ में रियासत अली 'ताबिश' जी
बायें सेः नाम याद नहीं, विनोद कुमार पांडेय ,विनोद जी, अकबर खान जी, प्रवीण शुक्‍ला, विपिन चौधरी साहिबा, सुनिल कुमार साहब साथ में रियासत अली 'ताबिश' जी


दो धर्मों के प्रतीक पेडों (खजूर और पीपल) को एकसाथ देखकर एक चित्र उनके साथ